उदास चेहरे के साथ 'गंगूबाई' अंदाज में थाने से बाहर निकलीं राखी सावंत

राखी सावंत एक बार फिर चर्चा में हैं एक्ट्रेस थाने से बाहर आईं शर्लिन की वजह पहुंचीं पुलिस स्टेशन 
  
Aapni News, Entertainment

Aapni News, Entertainment

राखी सावंत पर इन दिनों मुश्किलों का पहाड़ टूट पड़ा है। राखी को पिछले कुछ दिनों से एक नहीं बल्कि कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ उनको अपनी शादी की चिंता सता रही थी। वहीं, उनकी मां अस्पताल में भर्ती है। राखी इन सब चीजों से निपट ही रही थी कि तभी उन पर एक नई मुसीबत आ पड़ी। पुलिस हिरासत में लिए जाने के बाद गुरुवार को राखी सावंत से पूछताछ की गई। राखी पर इस परेशानी की वजह हैं शर्लिन चोपड़ा हैं।

पुलिस हिरासत में राखी सावंत
पिछले साल 9 नवंबर को शर्लिन चोपड़ा ने राखी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। शर्लिन का कहना है कि राखी बेवजह उनके और बॉलीवुड के बीच की लड़ाई में कूद पड़ी हैं। इस मामले में शर्लिन की शिकायत के बाद कार्रवाई करते हुए अंबोली पुलिस ने 19 जनवरी को उनको हिरासत में ले लिया था। राखी ने हालांकि पुलिस की पूछताछ में पूरा सहयोग किया। इसलिए पुलिस ने उससे पूछताछ के बाद घर जाने दिया।

लंबी पूछताछ के बाद थाने से निकलते वक्त राखी सावंत अलग ही टेंशन में नजर आईं। थाने से बाहर आकर राखी ने गंगूबाई अंदाज में सिर ऊंचा करके और हाथ जोड़कर मीडिया का अभिवादन किया। इस दौरान राखी हिजाब पहने नजर आईं। राखी के एक्सप्रेशन से ऐसा लग रहा था कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है।

मां की हालत नाजुक 
थाने से छूटने के बाद राखी सावंत बीमार मां से मिलने अस्पताल पहुंचीं। मीडिया से बातचीत में राखी सावंत ने कहा कि मां की हालत खराब है। मां के बारे में जानने के बाद राखी का बीपी भी कम हो गया। राखी की आवाज भारी लग रही थी। राखी के चेहरे की उदासी और आवाज का भारीपन उनके जीवन की बड़ी पीड़ा को बयां कर रहा था। हालांकि मुश्किल वक्त में राखी के पति आदिल खान उनके साथ नजर आए।

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।