कपल थेरेपी: क्या आपकी शादीशुदा जिंदगी में आ रही हैं ये परेशानियां? तो आपको कपल्स थेरेपी की जरूरत है!

  
General News

Aapni News, General News


जब कपल्स के बीच अलगाव और बहस कड़वी हो जाए, तो कपल्स को कपल्स थेरेपी की जरूरत पड़ सकती है। यह थेरेपी कपल्स को अपने रिश्तों को बेहतर ढंग से समझने और उनके संघर्ष को बेहतर बनाने में मदद करती है।

हालांकि दिन बीतने के साथ कोई भी रिश्ता बेहद कमजोर हो जाता है। एक छोटी सी दरार भी रिश्ते को बर्बाद कर सकती है। कपल्स के बीच लड़ाई-झगड़े, समय न बिताना या एक-दूसरे से बात न करना आम बात है। लेकिन जब पति-पत्नी एक-दूसरे की परवाह करने या संवाद करने में विफल रहते हैं, तो रिश्ता टूटने की कगार पर पहुंच जाता है। ऐसे रिश्ते को बनाए रखने और बनाए रखने के लिए 'कपल थेरेपी' बेहद जरूरी है। इसलिए कपल्स कपल थेरेपी के जरिए अपने रिश्ते को बचाने की कोशिश कर सकते हैं। जोड़ों को चिकित्सक को नियमित रूप से देखना चाहिए। यह वैवाहिक जीवन को बेहतर बनाने में मदद करता है और वैवाहिक जीवन जीने के तरीके के बारे में चेतावनी देता है। सबसे पहले, आइए जानें कि क्या आपको कपल्स थेरेपी की आवश्यकता है। यहां कुछ संकेत दिए गए हैं जो आपको यह महसूस करने में मदद करेंगे कि आपका रिश्ता टूट गया है या नहीं।

रिश्ते में चिंगारी चली गई है

होल हार्ट रिलेशनशिप्स डॉट कॉम के अनुसार, एक रिश्ता तब अपनी चमक खो देता है जब एक जोड़े के जीवन में कुछ चीजों को कम महत्व दिया जाता है। एक-दूसरे को क्या पसंद है, किस तरह का जीवन चाहते हैं, यह जानना रिश्ते में नवीनता लाने और जीवन को चमकदार बनाने के लिए आवश्यक है। कपल्स थेरेपी रिश्ते में पहले जो चमक थी उसे वापस लाने में मददगार है।

पुरानी बातों के लिए 

कई बार कपल्स लड़ाई-झगड़े की बातें ढूंढते रहते हैं। ऐसे में ये अक्सर पुराने विचारों को उठा लेते हैं और झगड़ने लगते हैं। वे पुराने विचारों को याद करके लड़ने के बहाने ढूंढते रहते हैं। ऐसे मामलों में, उन्हें कपल थेरेपी की आवश्यकता हो सकती है, जो जोड़े को वर्तमान में जीना सिखाती है और पुराने मुद्दों को सुलझाने में मदद करती है।

संचार रोकना

इस बात को समझें कि जब कपल्स के बीच कम्युनिकेशन बंद हो जाता है या मुश्किल हो जाता है तो कपल्स थेरेपी जरूरी है। उपचार के दौरान दंपत्ति के लिए एक आरामदायक स्थान प्रदान किया जाता है। ताकि वे खुलकर बोल सकें। इसके जरिए कपल के बीच की अनबन और दुश्मनी को कम करने की कोशिश करता है।

साथ में समय नहीं बिताना

लाइफस्टाइल और बिजी शेड्यूल की वजह से कपल्स अक्सर साथ में वक्त नहीं बिता पाते हैं। इससे झगड़े और संघर्ष हो सकते हैं। कपल्स थेरेपी के जरिए कपल्स को एक-दूसरे के लिए पूरा समय दिया जाता है। ताकि वे एक-दूसरे के साथ क्वालिटी टाइम बिता सकें और अपने रिश्ते को और मजबूत कर सकें।

कुछ विचार छिपा रहे हैं

जब कपल एक-दूसरे से बातें छुपाने लगे तो समझ जाएं कि रिश्ते में दरार आ गई है। ऐसे मामलों में, चिकित्सक जोड़े के बीच की खाई को पाटने का काम करता है। इसके अलावा जो समस्याएं दोनों के बीच झगड़े का कारण बनती हैं उनका भी समाधान हो सकता है। रिश्ते टूटने से बचाने के लिए कपल्स थेरेपी मांगी जा सकती है। यह थेरेपी कपल को रिश्ते की अहमियत और रिश्ते को नए सिरे से कैसे शुरू किया जाए, समझाती है।

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।