Chanakya Niti: स्त्री चरित्र को लेकर आचार्य चाणक्य ने कही थी बड़ी बात, जरूर रखें ध्यान

आचार्य चाणक्य ने यह बताया है कि चरित्र ही दरअसल एक व्यक्ति का वास्तविक धन होता है. अगर चरित्र ना हो तो इंसान में कुछ भी नहीं रहता.
  
chankya niti

Aapni News, Lifestyle

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में चरित्र और स्त्री के बारे में कुछ बातें कही हैं, जो आपके लिए काफी काम की भी हो सकती है. किसी के चरित्र का भाव मुसीबत के वक्त भी हो जाता है. चरित्र निश्चल और स्वच्छ हो तो कोई भी मुसीबत हो तो उससे पार लगाया जा सकता है.

Also Read: Chanakya Niti: जिंदगी में भुलकर भी किसी को न बताएं ये 5 बातें, नहीं तो हो सकती हैं परेशानी

आचार्य चाणक्य ने यह बताया है कि चरित्र ही दरअसल एक व्यक्ति का वास्तविक धन होता है. अगर चरित्र ना हो तो इंसान में कुछ भी नहीं रहता. चरित्र की रक्षा उसी तरह करनी चाहिए जैसा की एक व्यापारी अपने धन करता है. खासतौर पर स्त्री को अपने चरित्र को लेकर सतर्क भी होना चाहिए. चरित्रहीन व्यक्ति स्वार्थी हो जाता है, वो झूठा भी होता है और धन की बर्बादी भी कर अंत में खुद बर्बाद हो जाता है.

Also Read: Chanakya Niti: ऐसी स्त्री की आंखों का तारा नहीं, कांटा होता हैं उनका पति

आचार्य चाणक्य ने यह बताया है कि अगर जीवन की वास्तविकता को भी समझना है तो योगी बनो, भोगी नहीं. भोग विलास की आदत आपके अंदर लालच को भी पैदा करती हैं और आपको जिंदगी की सच्चाई से दूर भी कर देती हैं लेकिन योगी हो जाने पर सब खोकर आनंद की प्राप्ति होती है.

Also Read:  Chanakya Niti: संकट के समय कर लिया जिसने ये काम, तो बिल्कुल मिलेगी सफलता

अनुशासन जीवन का हिस्सा बन जाता है और धैर्य-संयम के बलबूतें आचार्य चाणक्य ने बताया है कि स्त्री की खूबसूरती से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण एक स्त्री के गुण होते हैं, क्योंकि एक स्त्री सब कुछ बना भी सकती है और बिगाड़ भी सकती है. इसलिए विवाह से पहले हमेशा उसके गुणों पर ध्यान देना चाहिए, विवाह तभी करें, जब वो स्वच्छा से विवाह के लिए भी तैयार हो.

Also Read: Chanakya Niti: स्त्री हो या पुरूष ये 3 काम करने के बाद खुद को साफ करना होता हैं बेहद जरूरी

चाणक्य का यह कहना है कि अगर कोई स्त्री आपसे भी प्रेम करती है, परवाह करती हो तो उस स्त्री का साथ कभी भी नहीं छोड़े और भविष्य में अगर वो स्त्री झगड़ा भी करें तो भी उसका साथ ना छोड़े क्योंकि वो ही आपकी सच्ची हम सफर होगी. जिस स्त्री से आप विवाह करने जा रहे हैं तो एक बार जरुर रखे ध्यान की उसकी धर्म कर्म में आस्था है या नहीं, धार्मिक स्त्री कभी आपका अहित भी नहीं करेगी और परिवार के लिए भी अच्छी साबित होगी.

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।