Chanakya Niti: स्त्री-पुरुष की वो सबसे गंदी आदतें जो व्यक्ति के जीवन को कर देती है बर्बाद

कोई भी युवा अपने जीवन में अगर कामयाब होना चाहते है तो फिर इस आलस्य से नाम के दुश्मन को खत्म कर देता है.
  
chankya niti

Aapni News, Lifestyle

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में यह बताया गया है कि युवावस्था में युवा स्त्री युवा पुरुष इस बात को नहीं समझते की क्या गलत है और क्या सही और ऐसे ही वक्त में किये गये गलत फैसले बाद में पछताने को मजबूर भी कर देते हैं.

Also Read: आचार्य चाणक्य ने जाने क्यों बताया ऐसे माता, पिता, पत्नी और संतान को आपका शत्रु

नशा
नशा करने की आदत व्यक्तियों को लिए श्राप समान है. ये ना सिर्फ मानसिक और शारीरिक रूप की कमजोर भी बनाती है. ये लत व्यक्तियों का जीवन बर्बाद कर देता है. नशे की लत ही युवाओं को और गलत संगत में भी ले जाती है और ऐसे युवा  जिंदगी के इस सुनहरे अवसर में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं और पीछे रह जाते हैं.

Also Read:  Chanakya Niti: स्त्री हो या पुरूष ये 3 काम करने के बाद खुद को साफ करना होता हैं बेहद जरूरी

आलस्य
आलस्य किसी युवा स्त्री या पुरुष के लिए सबसे बड़ा दुश्मन भी है. कोई भी युवा अगर कामयाब होना चाहते है तो फिर इस आलस्य से नाम के दुश्मन को खत्म भी कर देती है. वरना काम को कल पर छोड़ने की आदत के चलते वक्त कब बीत जाएगा ये आपको पता भी नहीं चलेगा.

लापरवाही
लापरवाही और आलस्य दोनों के बीच बस थोड़ा सा ही अंतर होता है, लेकिन दोनों ही आपका भारी नुकसान भी कर सकते है. अगर आपको किसी काम का अनुभव ना हो तो किसी अनुभवी व्यक्ति की सलाह लेकर वो काम भी करना चाहिए. जिससे की हम गलती करने से बच सकें.

  Also Read: Chanakya Niti: इंसान की ये 1 गलती सभी अच्छाइयों पर फेर देगी पानी, फिर इंसान ना घर का रहेगा ना घाट का

काम वासना
गलत संगति में युवा भटककर काम यानि की सेक्स की तरफ आकर्षित भी होते हैं. जो अपने जीवन को बर्बाद भी कर सकती है. ऐसे युवा हमेशा इसी बारे में सोचते रहते हैं. ऐसा करने वाले युवाओं का मानसिक और शारीरिक विकास संतुलन प्रभावित होता है.

Also Read: मेरी कहानी: मेरी सास मुझे और मेरे पति को अलग करना चाहती है, मैं क्या करूं?

गलत संगति

बुरी संगति युवाओं को अंदर से खोखला भी कर देती है. बुरी संगति व्यक्ति को अपने जीवन के अंधकार की तरफ लेकर जाती है. संगति का असर स्त्री या पुरुष के आचरण पर पड़ता है. जो उसे आगे जीवन में अच्छा या बुरा इंसान भी बनाता है. जो गलत संगति में युवा भटककर काम यानि की सेक्स की तरफ आकर्षित होते हैं. जो जीवन को बर्बाद कर सकती है. ऐसे युवा हमेशा इसी बारे में सोचते रहते हैं. ऐसा करने वाले युवाओं का मानसिक और शारीरिक विकास संतुलन प्रभावित होता है.

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।