जल्द हो सकता है सोना सस्ता, सरकार बजट में कर सकती है बड़ा ऐलान

  
gold-silver-price

AAPNI NEWS, BUSINESS

Gold Price: घरेलू बाजार में सोना खरीदना सस्ता हो सकता है. न्यूज एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक, बजट में सोने पर इंपोर्ट ड्यूटी कम होने की सभावना लग रही है.

वाणिज्य मंत्रालय ने जेम्स एंड ज्वेलरी सेक्टर के एक्सपोर्ट और मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के मकसद से आगामी बजट में गोल्ड पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाने की मांग की है! कंरट अकाउंट डेफिसिट (सीएडी) और गोल्ड के बढ़ते इंपोर्ट पर लगाम लगाने के लिए इस साल जुलाई में केंद्र ने सोने पर इंपोर्ट ड्यूटी 10.75 प्रतिशत से बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दी थी! गोल्ड पर बेसिक कस्टम ड्यूटी 12.5 फीसदी है! 2.5 प्रतिशत के एग्रीकल्चर इंफ्रांस्ट्रकचर डेवलपमेंट सेस (AIDC) के साथ कस्टम ड्यूटी 15 प्रतिशत है!

Also Read: इंडिया टीम को टी-20 वर्ल्ड कप जितवाने वाले कोच गैरी कर्स्टन अब इस देश की टीम को देंगे कोचिंग

क्या हो सकता है सोना सस्ता?

पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों का कहना है कि जेम्स एंड ज्वेलरी सेक्टर ने ड्यूटी में कटौती के लिए वाणिज्य मंत्रालय से सिफारिश की है, इसलिए वाणिज्य मंत्रालय ने इसके लिए वित्त मंत्रालय से आग्रह किया है. मंत्रालय ने एक्सपोर्ट और मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए कुछ अन्य उत्पादों पर इंपोर्ट ड्यूटी को कम करने के लिए भी कहा है.
रिपोर्ट के अनुसार जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (GJEPC) के पूर्व अध्यक्ष कॉलिन शाह ने कहा कि इंडस्ट्री एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने और सेक्टर में नौकरियां पैदा करने के लिए आगामी बजट पर अपनी उम्मीद लगा रहा है. काउंसिल के अनुसार भारत में दुनिया का रिपेयर हब बनने की क्षमता है और यह पॉलिसी एक्सपोर्ट को 300-400 मिलियन अमरीकी डालर तक बढ़ाने में मदद कर सकती है!

Also Read: आर्थिक तंगी के चलते इन 5 क्रिकेटरों ने चुना दूसरा व्यवसाय, किसी ने की सफाई तो कोई बन गया ड्राइवर

जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट 26.45 अरब डॉलर पर

इस साल अप्रैल-नवंबर 2022 में जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट 2 प्रतिशत बढ़कर 26.45 अरब डॉलर हो गया! चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-नवंबर के दौरान गोल्ट इंपोर्ट 18.13 प्रतिशत घटकर 27.21 अरब डॉलर रह गया! गोल्ड इंपोर्ट का कंरट अकाउंट डेफिसिट (CAD) पर असर पड़ता है!
भारत गोल्ड का सबसे बड़ा इंपोर्टर है! जो मुख्य रूप से ज्वैलरी इंडस्ट्री की मांग को पूरा करता है! मात्रा के लिहाज से देश सालाना 800-900 टन गोल्ड इंपोर्ट करता है!

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।