Home राजनीति भाजपा नेत्री सोनाली फौगाट पर लगे मारपीट के आरोप, जानिए पूरा मामला

भाजपा नेत्री सोनाली फौगाट पर लगे मारपीट के आरोप, जानिए पूरा मामला

Aapni News, Hisar

भाजपा नेत्री सोनाली फौगाट एक बार फिर ऑडियो वायरल के कारण पनपे विवाद में चर्चाओं में हैं। इस बार ऑडियो किसी सरकारी अफसर का नहीं बल्कि उनकी ही पार्टी के कार्यकर्ता का है। ऑडियो वायरल होने के बाद भाजपा के काजला मंडल अध्यक्ष सुभाष शर्मा की पिटाई का मामला सामने आया है। सुभाष शर्मा ने सोनाली फौगाट पर उसके साथ मारपीट करने और पार्टी कार्यक्रमों के नाम पर पैसे वसूली के आरोप लगाए हैं।

इधर, घटना के बाद मंडल अध्यक्ष अस्पताल में एमएलआर कटवाने के लिए और पुलिस कार्रवाई के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है। लेकिन सात दिन बीत जाने के बाद न तो अभी तक एमएलआर कटी और न ही एफआइआर हुई है। ऐसे में मंडल अध्यक्ष का कहना है कि डर के कारण गांव में ही छुपकर रहना पड़ रहा है। उधर सोनाली फौगाट मामले में अपनी प्रतिक्रिया देने से दूरी बनाए हुए हैं।

दो ऑडिया हुई वायरल, बढ़ा मामला

मंडल अध्यक्ष सुभाष शर्मा की जुबानी : पूर्व बालसमंद मंडल अध्यक्ष के पुत्र अमित की कई दिन पहले एक व्यक्ति से सोनाली से संबंधित बातचीत हुई। वहीं मेरी भी सोनाली के पीए के बारे में एक व्यक्ति से करीब 15 दिन पहले बातचीत हुई। हम दोनों की ऑडियो एक वाट््सएप ग्रुप में वायरल हो गई। इस पर कालीरामण के एक व्यक्ति ने अमित को सोनाली फौगाट से राजीनामे के लिए मिलवाने की बात कहते हुए मुझे साथ चलने के लिए कहा।

हम तीनों 17 सितंबर की रात को करीब 9 बजे संत नगर स्थित सोनाली फौगाट के घर पहुंचे। जहां उसके पीए सहित 4-5 लोग मौजूद थे। वहां पहले अमित को अंदर बुलाकर सोनाली ने थप्पड़ मारे। उसके बाद पीए और सोनाली फौगाट ने मुझे पीटा। जब वे मुझे पीट रहे थे तो कालीरावण निवासी ने भागकर गेट खोला और बाहर निकल गया। जोर से बोलने लगा तो उन्होंने हमें छोड़ा। मेरे खून में कपड़े भर गए। हाथ पर चोट थी। मैं डर गया था।

19 सितंबर को पत्नी के कहने पर मैं सामान्य अस्पताल गया, जहां चिकित्सक ने मेरा एक्सरे करवाया। उन्होंने एक्सरे रिपोर्ट आने के बाद एमएलआर काटने की बात कही। लेकिन बाद में नहीं काटी। मैं पुरानी सब्जीमंडी चौकी पहुंचा, वहां पुलिस वालों ने एमएलआर मांगी। एमएलआर नहीं थी तो उन्होंने भी शिकायत दर्ज नहीं की। इसके बाद 20-21 तारीख को सोनाली फौगाट के साथियों ने मुझे मिलने के लिए बुलाया। मैं उनसे मिला था। हालांकि उस दिन उन्होंने मेरे साथ मारपीट नहीं की। मेरी उनसे मुलाकात हुई। वहीं इस मामले में अमित से बात की तो उसने ऐसे घटनाक्रम के होने से इन्कार कर दिया।

खून में सने कपड़े सुबूत के लिए रखे हैं संभालकर

मंडल अध्यक्ष ने सुबूत के तौर पर उस घटना वाले दिन के खून में सने कपड़े संभाल कर रखे हैं। सुभाष ने कहा कि मुझे शरीर पर चोट लगने से कपड़े खून में सन गए थे। उन्हें मैंने अभी भी संभाल रखा है। जो जरूरत पडऩे पर पुलिस को दूंगा।

आरोप पर जवाब देने से बचती रहीं सोनाली

सोनाली फौगाट आरोप के जवाब से दूरी बनाए रखी। सोनाली के नंबर पर जब फोन किया तो पीए ने उठाया। पीए ने कहा कि सोनाली फौगाट बाहर हैं। पीए ने आरोप को नकारते हुए सुभाष पर ही पैसे लेने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यह व्यक्ति लोगों से काम करवाने के पैसे मांगता है। कई सरपंचों व आमजन से रुपये ले रखे हैं। लोगों से पैसे लेने की हरकत के बाद में सोनाली फौगाट को पता चला तो उन्होंने इसे धमकाया अवश्य था कि पार्टी को बदनाम मत कर। यह व्यक्ति 17 के बाद तो हमारी गाड़ी में भी बैठकर घूमा है। झूठे आरोप लगा रहा है।

पूर्व में भी विवादों व अन्य कारण से चर्चाओं में रहीं भाजपा नेत्री

–  हरियाणा विधानसभा चुनाव में आदमपुर सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व सीएम भजनलाल के बेटे कुलदीप बिश्नोई के खिलाफ बीजेपी की टिकट पाकर सोनाली फौगाट देशभर में चर्चा का विषय बन गईं थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

दिल दहला देने वाला मामला: चार माह के मासूम को पिलाया तेजाब, जानिए वजह

Aapni News, Panipat पानीपत में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। चार माह के एक मासूम …