Home देश-विदेश मां की अर्थी को कंधा देने वाले 5 बेटों की मौत, अब छठा बेटा नाजुक, देश में पहली ऐसी घटना

मां की अर्थी को कंधा देने वाले 5 बेटों की मौत, अब छठा बेटा नाजुक, देश में पहली ऐसी घटना

0

Aapni News

दुनियाभर में कोहराम मचाने वाली कोरोना महामारी के कहर से झारखंड का एक हंसता-खेलता परिवार पूरी तरह से तबाह हो गया। कोरोना संक्रमण की वजह से परिवार में एक के बाद एक 6 सदस्यों की मौत हो चुकी है। पहले मां और फिर उनकी अर्थी को कंधा देने वाले पांच बेटों की एक के बाद एक मौत हो गई।

15 दिनों में ही इस परिवार के छठे सदस्य की मौत हो गई। मृतक महिला के एक और बेटे के अलावा परिवार के कई अन्य सदस्यों की भी तबीयत खराब बताई जा रही है। देश में अपनी तरह का संभवतः यह अकेली मनहूस घटना है, जिसमें कोरोना से एक परिवार के छह लोगों की मौत हो गई।

कोरोना से परिवार के 6वें सदस्य की मौत

मामला धनबाद के कतरास इलाके का है। रानी बाजार में रहने वाले एक परिवार के छठे सदस्य की सोमवार को कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार, चार जुलाई को सबसे पहले 88 वर्षीय मां का निधन बोकारो के एक नर्सिंग होम में हुआ।

शव की जांच से पता चला कि वह कोरोना पॉजिटिव थी। उसके बाद उनके एक बेटे की मौत रांची के रिम्स कोविड अस्पताल में हो गई। कुछ दिन बाद दूसरे बेटे का केंद्रीय अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया।

15 दिन में ही तबाह हो गया हंसता-खेलता परिवार

मौत का तांडव यहीं नहीं रुका, तीसरा बेटा धनबाद के एक निजी क्वारंटीन सेंटर में भर्ती था, वहीं एकाएक तबीयत ऐसी बिगड़ी कि सीधे मौत के मुंह में समा गया। उनके ड्राइवर उन्हें पीएमसीएच ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। 16 जुलाई को चौथे बेटे का भी टीमएच जमशेदपुर में कैंसर बीमारी के इलाज के दौरान निधन हो गया। पांचवां बेटा भी धनबाद के कोविड अस्पताल में रेफर करने के बाद रिम्स रांची में भर्ती था, जहां सोमवार को उसने अंतिम सांस ली।

इसी के साथ कोरोना वायरस के संक्रमण से एक बुजुर्ग महिला और उसके पांच बेटों की मौत हो गई है। वहीं, परिवार के कई और सदस्यों का भी इलाज चल रहा है। इस परिवार के दुःखों के बारे में जो भी सुन रहा है, उसका कलेजा फटा जा रहा है।

कोरोना महामारी ने मां और 5 बेटों को बनाया शिकार

बताया गया कि जून महीने में महिला दिल्ली से शादी समारोह में हिस्सा लेने के लिए कतरास स्थित अपने घर आई थी। तभी अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद उसे बोकारो के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई। उसकी मौत के बाद जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई।
स्थानीय लोगों का कहना है कि पिछले महीने शादी की शहनाई की गूंज से घर में खुशनुमा माहौल था। हंसता-खिलखिलाता परिवार धूम-धड़ाके मस्ती की खुशियों में मग्न था, लेकिन एक पखवाड़े के अंदर ही इस परिवार में मौत ने ऐसा कोहराम मचाया कि देखते ही देखते सब-कुछ उजड़ गया। वैश्विक महामारी कोरोना से परिवार के छह सदस्यों की अकाल मृत्यु हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में कोरोना के कारण तनाव झेल रहे लोगों को मनोवैज्ञानिक देंगे सलाह, नंबर जारी

Aapni News, Chandigarh हरियाणा सरकार ने कोरोना महामारी के कारण तनाव झेल रहे लोगों को मानसि…