धन- हानि को दूर करने के लिए नवरात्रि में रोजाना जरुर करे ये काम, होगा धन- लाभ, मां लक्ष्मी की बरसेगी विशेष कृपा

  
chaitra navratri

Aapni News, Religion

हिंदू धर्म में नवरात्रि का बहुत अधिक महत्व होता है। नवरात्रि पर मातृ पंथ का विशेष महत्व होता है। मां की कृपा से धन हानि की समस्या दूर होती है और धन लाभ होता है। नवरात्रि में मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए मां लक्ष्मी को रोजाना खीर का भोग जरूर लगाना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार खीर माता लक्ष्मी को प्रिय है। धन हानि को रोकने के लिए रोजाना मां की आरती करें और उन्हें भोग लगाएं। मां को प्रसन्न करने के लिए मां की आरती के साथ मां लक्ष्मी चालीसा का पाठ करें। आगे पढ़ें श्री मां लक्ष्मी चालीसा...

Also Read: Electricity Bill: एक बार खर्च करो 245 रुपए और फ्री में जलेगी घर की लाइट, बिजली बिल भी आएगा जीरो!श्री लक्ष्मी चालीसा (श्री लक्ष्मी चालीसा):
सोरथा।
यह और प्रार्थना है, मैं हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूं।
सुगन्धित करें सब संस्कार, जय जननी जगदम्बिका।

, चार।
सिंधु सुता में सुमिरौ तोहि।
ज्ञान और ज्ञान भ्रम की संतान हैं।

Also Read:  आवारा पशुओं को भगाने वाली आई बेहतरीन लाईट, य़हां जानें इसकी खासियत और कीमत

श्री लक्ष्मी चालीसा
कोई किसी उपकारी के समान नहीं है। सभी तरीके हमारी आशा हैं।
जय जय जगदंबा जगदंबा तुम सबका सहारा

आप सभी घाट घाट के रहने वाले हैं। यह हमारा विशेष अनुरोध है।
जगजननी जय सिंधु कुमारी। वे दीनों के हित के हैं

तुम हमेशा रानी हो। विश्व माता भवानी को नमन।
तिहरी की पूजा के लिए कोई न कोई विधि जरूर अपनानी चाहिए। अपराध धारण करो

Also Read: Sweden: एक लड़की जो घर बैठे कमाती है इतने पैसे, करती है बस ये काम

मजेदार दृष्टि चितवो मम ओरि। जगत जननी मेरी विनती सुन।
सुख, ज्ञान और सद्बुद्धि के उपहार की जय हो। संकट मय संकट माता

क्षीरसिंधु जब विष्णु मथायो। सिन्धु में मिले चौदह के रत्न।
यहां के चौदह रत्नों में सुखरासी है। साहब ने सेवा की, सेवक बनता

हर बार श्री लिन्हा का जन्म होता है। आकार बदलें और वहां परोसें।
विष्णु स्वयं वर्तमान पतले पुरुष के रूप में। लिन्हेउ अवधपुरी अवतारा

Also Read: Gold Price Today: टूट गया सोने का गुरुर, चांदी भी सस्ती, जानें आज क्या है 10 ग्राम गोल्ड का भाव

तब वे जनकपुर माही में प्रकट हुए। क्या आपने हार्ट ब्रिज की सेवा की?
यदि इसे अपनाया जाता है, तो यह आंतरिक है। विश्वविख्यात त्रिभुवन स्वामी

आप जैसी बलवान कोई शक्ति नहीं है। महिमा कहाँ गिनूँ?
मन आदेश वचन सेवा। मन को मनोवांछित फल मिला

तजि छल कपट धूर्त। पूजा कई तरह से की जाती है।
मुझे कहाँ स्थगित करना चाहिए? जो यह पाठ करता है वह मुझे प्रिय है

Also Read: ब्रेजा ने CNG अवतार में लॉन्च होते ही मचाई धूम, डिलीवरी के लिए करना होगा महीनों इंतजार

तो नो पेन नोई। मनोवांछित फल की प्राप्ति।
त्राहि त्राही जय दर्द निवारिणी। त्रिविध ताप भव बंधन हरिणी

जो लोग चालीसा पर भरोसा करते हैं वे पढ़ाते हैं। ध्यान से सुनो
ताकि कोई बीमारी आपको परेशान न करे। पुत्र आदि धन की प्राप्ति

न संतान और न धन। अन्ध खट्टा कोढ़ी अति दीन।
विप्र कहां से शिक्षा लेगा? हृदय में कभी संशय न लाओ

Also Read: Hyundai Verna Vs Honda City: कौन सी सेडान है आपके लिए खास, जानिए कीमत से लेकर फीचर्स की पूरी डिटेल

चालीसा के दिन पाठ की समाप्ति। मुझसे दस फीट गौरीसा।
आपको बहुत सुख और धन की प्राप्ति होगी। कहहुँ पहिँ नहिं पहिं 

बारह महीने खेती की। धन्य हैं आप और दूसरे नहीं।
हर दिन अपने दिल को याद करो। उसके समान संसार में कोई नहीं

मुझे किस बात की शेखी बघारनी चाहिए? स्थापित करें परीक्षा पर विचार करें।
करि विश्वास करै व्रत नेमा। तेरी प्रीति सिद्ध है

जय जय लक्ष्मी भवानी। सद्गुण सभी में व्याप्त हों।
जगत में तेरी महिमा होती है। तुम से मित्र कहु न कहुँ

अब मोही अनाथ को संभालो। संकट कटै भक्ति मोहि दीजै।।
हमारी गलतियों के लिए हमें क्षमा करें। दर्शन दजै दशा निहारी

Also Read: दुल्हन मिठाई दिखा चिड़ा रही थी, दूल्हे ने छीनकर दोस्तों पर फेंका, गुस्साई दुल्हन ने जो किया उड़ी लोगों की हवाइयां

बिना देखे ही सहम गए अधिकारी तुम असमर्थ हो, बड़ी पीड़ा को सहारा देते हो।
शरीर में माया, ज्ञान और बुद्धि नहीं रहती। तुम मनु सब जानत॥

एक चतुर्भुज आकार देखें। अब मैं दर्द से छुटकारा पाने जा रहा हूं।
चलिए किसी तरह मान लेते हैं। ज्ञान और बुद्धि एक दूसरे को आकर्षित नहीं करते

दोहा
त्राहि त्राही दुख हरिणी, हारो वेगी सब त्रास।। जयति जयति जय लक्ष्मी, शत्रु नाश।
रामदास धारी ने नित्य विनय का आग्रह करते हुए ध्यान किया। मातु लक्ष्‍मी दास पर करम करै।

Also Read: एक अप्रैल के बाद गाड़ी खरीदना पड़ सकता हैं महंगा, जानिए क्या वजह

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।