Home आपणी-प्रैस हाइटेक डेयरी स्थापित कर कमाएं मोटा पैसाः जानिये योग्यता और आवेदन प्रक्रिया

हाइटेक डेयरी स्थापित कर कमाएं मोटा पैसाः जानिये योग्यता और आवेदन प्रक्रिया

Aapni News Chandigarh

पशुपालन एंव डेयरी विभाग हरियाणा की तरफ से हरियाणा के पशुपालकों के लिए हाईटेक डेयरी इकाइयां लगाने के लिए स्कीम शुरू कर रखी है। इस स्कीम का लाभ उठाकर आप भी डेयरी फार्मिंग में अपना भविष्य बना सकते हैं। इसके लिए कुछ शर्तें व योग्यताएं निर्धारित शुरू की हुई है। यदि आप इन शर्तों एंव योग्यताओं को पूरा करते हैं तो आपको आज ही उक्त विभाग की हाईटेक डेयरी इकाइ स्थापित करनी चाहिए।

योग्यताः

1. आवेदक की आयु 18 से 55 वर्ष और वह हरियाणा का निवासी होना चाहिए।
2. आवेदक बेरोजगार होना चाहिए।
3. कोई अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता या प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं होगी।
4. किसी भी समूह/फर्म या संगठन को योजना के तहत आवेदन करने की अनुमति नहीं होगी, क्योंकि यह योजना एक व्यक्तिगत लाभार्थी उन्मुख है।
5. इस योजना के तहत आवेदक को बेरोजगार होने और अन्य शर्तों का पालन करने के लिए स्वयं घोषणा पत्र प्रस्तुत करना होगा।

मिलने वाला लाभः

योजना के तहत ब्याज सब्वेंशन हेतु वित्तीय सहायताः

– 21-50 दुधारू पशुओं की डेयरी इकाईयाँः दुधारू पशुओं की कुल कीमत की 75% प्रसेंट लागत पर ब्याज सब्सिडी (25% मार्जिन राशि), जो कि
लाभार्थी द्वारा 21-50 दुधारू पशुओं की डेयरी इकाई की स्थापना के लिए पशुओं की खरीद हेतु ऋण के रूप में लिया गया है।
– 3-5, 6-10 और 11-20 दुधारू पशुओं की डेयरी इकाईयाँः दुधारू पशुओं की कुल कीमत की 85% लागत पर ब्याज सब्सिडी (15% मार्जिन राशि), जो कि लाभार्थी द्वारा 3-5, 6-10 और 11-20 दुधारू पशुओं की डेयरी इकाई की स्थापना के लिए पशुओं की खरीद हेतु ऋण के रूप में लिया गया है।
– 3-5, 6-10 और 11-20 देशी नस्ल के दुधारू पशुओं की डेयरी इकाईयाँः दुधारू पशुओं की 100ः लागत पर ब्याज सब्सिडी, जो कि लाभार्थी द्वारा 3-5, 6-10 और 11-20 दुधारू पशुओं की डेयरी इकाई की स्थापना के लिए पशुओं (हरयाना, साहीवाल, बेलाही, लाल सिंधी, थारपारकर और गिर आदि नस्ल) की खरीद हेतु ऋण के रूप में लिया गया है।
– एकल प्रोसेसिंग इकाई के मामले में 25% लागत मार्जिन राशि होगी और इकाई की शेष 75% लागत को बैंकों एवं वित्तीय संस्थानों से ऋण के रूप में व्यवस्थित किया जाएगा। प्रोसेसिंग इकाईयों/सहायक उपकरणों की अधिकतम अनुमेय सीमा 10,00,000/- (दस लाख) रूपये से अधिक नहीं होगी।

योजना के तहत बीमा हेतु वित्तीय सहायताः 

– इस योजना के तहत प्रथम वर्ष में दुधारू पशुओं के बीमे हेतु बीमा प्रीमियम 50ः की दर से वहन किया जाएगा।
– इस योजना के तहत अनुसूचित जाति के लाभार्थियों हेतु प्रथम वर्ष में दुधारू पशुओं के बीमे हेतु बीमा प्रीमियम 100ः की दर से वहन किया जाएगा।
– यदि लाभार्थी इस योजना के तहत हरयाना, साहीवाल और बेलाही नस्ल की 3-5 और 6-10 पशुओं की डेयरी इकाईयों स्थापित करता है तो प्रथम वर्ष के लिए दुधारू पशुओं का बीमा 100ः बीमा प्रीमियम की दर से सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

आवश्यक दस्तावेजः

1. पहचान/नागरिकता प्रमाण (निम्न में से कोई भी एक) (अनिवार्य)
-राशन कार्ड
-मतदाता कार्ड
-ड्राइविंग लाइसेंस
2. आधार कार्ड (अनिवार्य)
3. पैन कार्ड (अनिवार्य)
4. बैंक पासबुक (अनिवार्य) अपलोड करें
5. संबंधित सेवा क्षेत्र बैंक (अनिवार्य) से एनओसी
6. रद्द किया गया चेक (गैर-अनिवार्य)
7. बी.पी.एल. प्रमाण पत्र (गैर-अनिवार्य)ः
8. प्रशिक्षण प्रमाणपत्र फोटोकाॅपी (निम्नलिखित में से कोई भी)
(गैर अनिवार्य):
– डेयरी इकाई प्रशिक्षण प्रमाणपत्र फोटोकॅापी
– शूकर यूनिट प्रशिक्षण प्रमाणपत्र फोटोकाॅपी
– भेड़ इकाई प्रशिक्षण प्रमाणपत्र फोटोकाॅपी
– बकरी इकाई प्रशिक्षण प्रमाणपत्र फोटोकाॅपी

आवेदन ऐसे करें:

उक्त स्कीम के तहत आवेदन सरल हरियाणा की वेबसाइट से किया जा सकता है। जिसके लिए सरकार की तरफ से निशुल्क किया हुआ है। इसके लिए आप चाहें तो अपने नजदीकी किसी भी सीएचसी सैंटर पर जाकर करवा सकते हैं या फिर यदि आप उक्त स्कीम के लिए घर बैठे आवेदन करवाना चाहते हैं तो आपणी प्रैस, तहसील के सामने सिरसा रोड़ चौपटा (सिरसा) की ऑनलाइन सेवा ले सकते हैं जिसके लिए आप अपने सभी डाॅक्यूमेंट 99922-57847 पर काॅल करके वाॅट्सअप कर सकते हैं और वहां पर आपको आपणी प्रैस की तरफ से निर्धारित शुल्क ऑनलाइन ट्रांसफर करने होंगे। उसके उपरांत आवेदन की ऑनलाइन रशीद आपको उसी वाॅट्सअप पर भेज दी जाऐगी जिससे आपने डाॅक्यूमेंट भेजे हैं। तो उक्त स्कीम का आज ही फायदा उठाएं।

ऐसे मिलेगा लोन और अनुदान:

उक्त सारा प्रोसेस पूरा होने के उपरांत संबंधित विभाग के पास आपके डाॅक्यूमेंट सरल हरियाणा पोर्टल के माध्यम से पहुंच जाएंगे। वहां पर आपके डाॅक्यूमेंट की सत्यता जांची जाएगी और भौतिक सत्यापन भी किया जाएगा। विभाग के अधिकारियों की संतुष्टी के उपरांत आपकी फाइल आपके नजदीकी बैंक में भेज दी जाएगी जहां से आपको लोन लेना है। वहां पर बैंक के अधिकारी आपकी फाइल को वेरिफाइ करेंगे और अपने स्तर पर भौतिक सत्यापन करके संतुष्टी उपरांत आपकी फाइल के मुताबिक लोन मंजूर कर लेंगे। उसके बाद आपको पशु खरीदने होंगे और खरीदे पशुओं के भौतिक सत्यापन के बाद आपके बैंक खाते में विभाग की तरफ से दी गई अनुदान राशि डाल दी जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की मुश्किलें बढ़ीं, कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट, जानिए क्या है पूरा मामला

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। लखनऊ कोर्ट ने डांसर के खिलाफ गिरफ्तारी …