IAS Success Story: एक ऑटो ड्राइवर के बेटे ने रच दिया इतिहास, अपने परिवार की यूं मिटाई गरीबी

वह अपनी यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए लगातार 3 वर्षों तक रोजाना 12 घंटे की पढ़ाई की.
  
Ias Asaar ahmad

Aapni News, Success Story

अंसार अहमद शेख सन् 2015 में अपने पहले ही प्रयास में 361 की ऑल इंडिया रैंक के साथ 21 साल की उम्र में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को क्रैक करने वाले सबसे कम आयू के उम्मीदवार हैं. अंसार शेख एक ऑटो-रिक्शा चालक के बेटे हैं.  उनके भाई मोटर मैकेनिक का काम करते थे. वह महाराष्ट्र के जालना गांव के रहने वाले हैं.

Also Read: Success Story: बी.कॉम की पढ़ाई के बाद सब्जी की नर्सरी से सालाना 40 लाख कमा रहा सुधीर, जानें कैसे

Ias Asaar ahmad

लगातार 3 साल तक रोज 12 घंटे पढ़ते थे अंसार
अपनी कमजोर में आर्थिक परिस्थितियों के बावजूद अंसार अहमद शेख शुरू से ही अपने पढ़ाई में मेधावी रहे और पुणे के राजनीति विज्ञान में बीए में एडमिशन भी लिया. वह अपनी यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए लगातार 3 वर्षों तक रोजाना 12 घंटे की पढ़ाई की.

Also Read: यूट्युब से सीखी काले गेहूं की खेती, अब लाखों कमा रहा किसान

गरीबी में यूपीएससी परीक्षा पास करके बने मिसाल
अंसार शेख ने यूपीएससी परीक्षा को क्रैक करने के लिए अपनी पूरी कोशिश भी की. एक गरीब मुस्लिम परिवार से आने वाले अंसार की उपलब्धि वाकई काबिले में तारीफ है. वह इस प्रतियोगिता की दुनिया में अपनी पहचान बनाने के लिए कड़ी मेहनत करके कई गरीब उम्मीदवारों के लिए प्रेरणा स्रोत भी बन गए.

Also Read: एग्रीकल्चर: सास-बहू ने मिलकर बदले खेती के मायने, आधुनिक तरीके से खेती कर हर साल कमा रही लाखों रुपए

अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर रहते हैं एक्टिव

Ias Asaar ahmad
अंसार अहमद अपने सोशल मीडिया पर अकाउंट्स भी एक्टिव रहते हैं. अपने प्रोफेशनल व पर्सनल लाइफ से जुड़ी तस्वीरों को अपने इंस्टाग्राम पर अक्सर शेयर भी करते रहे हैं. उनके इंस्टाग्राम अकाउंट पर साढ़े तीन लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं. उन्होंने अपनी आखिरी पोस्ट अक्टूबर महीने में शेयर भी किया था, जब वह पोलैंड घूमने भी गए थे.

Also Read: तानों से युवा किसान में भरा जोश, शुरू की जैविक चने की खेती, अब कमा रहा लाखों

परीक्षा पास करने के बाद नहीं होते थे पैसे
ये कहा जाता है कि जब वह अंसार अहमद ने यूपीएससी परीक्षा पास भी की थी तो उनके पास अपने दोस्तों को पार्टी देने के लिए भी पैसे भी नहीं थे, तब उनके दोस्तों के साथ मिलकर इस खुशी का जश्न भी मनाया. पैसों की जरूरत होने पर उनके भाई सहायता के लिए आगे भी आते थे. होटल में काम करके अंसार अहमद ने अपनी कम्यूंटर की पढ़ाई की.

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।