IAS Success Story: कक्षा 10वीं में मिले थे पासिंग मार्क्स, फिर ऐसे रही प्लानिंग और फिर तुषार सुमेरा बन गए IAS ऑफिसर

हम बात कर रहे हैं. आइएएस अधिकारी तुषार सुमेरा की. इसकी 10वीं कक्षा की मार्कशीट इंटरनेट पर वायरल भी हो रही है.
  
Ias Tusar sumera

Aapni News, Success Story

IAS Success story:  तुषार सुमेरा यह कहते हैं कि जब खुली आखों से सपने देखते हैं तो उन्हें साकार करने के लिए इंसान खूब मेहनत भी करता है. आज हम आपको एक ऐसे ही आईएएस अफसर की कहानी बताने जा रहे हैं कि जिसे पढ़कर आप जरूर मोटिवेट हो भी हो सकते हैं.

Also Read: UPSC Success Story: वेटर, सेल्समैन से लेकर फायरमैन और फिर बना आईएएस ऑफिसर; जानें आशीष दास की IAS ऑफिसर बनने की पूरी कहानी

हम बात कर रहे हैं. आइएएस अधिकारी तुषार सुमेरा की. इसकी 10वीं कक्षा की मार्कशीट इंटरनेट पर वायरल भी हो रही है और इससे यह पता चलता है कि उन्होंने मुश्किल से परीक्षा पास की है. तुषार सुमेरा को अंग्रेजी में 100 में से 35, गणित में 36 और साइंस में 38 अंक प्राप्त हुए थे.

Also Read: UPSC Success Story: दीवारों पर इंग्लिश के शब्दों के अर्थ लिखकर सीखी अंग्रेजी, जानें सुरभि गौतम की आईएएस बनने की कहानी

न तो स्कूल में और न ही उनके गांव में किसी ने उन पर विश्वास भी किया. तो किसी ने यह भी नहीं सोचा था कि तुषार सुमेरा अपने जीवन में कुछ खास हासिल करेंगे. कि उन्होंने एक सरकारी स्कूल में पढ़ाना भी शुरू किया. और फिर सन् 2012 में उन्होंने यूपीएससी क्रैक किया.

Also Read: UPSC Success Story:मां हाऊस वाईफ, पिता सरकारी टीचर, भ्रष्टाचार से हुआ प्रोफेसर बेटी Neha Yadav का सामना तो बनी IPS ऑफिसर

दरअसल तुषार सुमेरा की मार्कशीट को सन् 2009 में बैच के आईएएस अवनीश शरण ने ट्विटर पर आनी पोस्ट भी शेयर किया. इसके बाद तुषार सुमेरा ने पोस्ट को स्वीकार भी किया और शरण को धन्यवाद दिया. इसके बाद से मार्कशीट वायरल भी हो गई. कई लोगों ने तुषार सुमेरा की लाइफ स्टोरी को एक प्रेरणा के रूप में पाया है.

Also Read: UPSC Success Story: मनरेगा मजदूर मां-बाप की बेटी दोस्तों से पैसे उधार लेकर बनी आईएएस, जानें सफलता की कहानी

तुषार सुमेरा सन् 2012 में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में शामिल हुए. उन्होंने आर्ट्स में ग्रेजुएशन की डिग्री भी हासिल की. इसके बाद उन्होंने बीएड भी किया और एक स्कूल टीचर के रूप में भी काम किया. यूपीएससी परीक्षा पास करने से पहले वह एक स्कूल में असिस्टेंट टीचर भी रहे.

Also Read: UPSC CSE Result 2021:सिविल सेवा परीक्षा में प्रयागराज के अतुलेश ने पांचवें प्रयास में पाई सफलता

जब तुषार सुमेरा टीचर बन गए तो उन्होंने अपना एक टारगेट भी बना लिया और वो उसी के मुताबिक पढ़ाई भी करने लगे. उनका टारगेट था कि उन्हें यूपीएससी क्लियर करके आइएएस ऑफिसर बनना है. इसी दिशा में वह लगातार मेहनत भी करते रहे और साल 2012 में यूपीएससी एग्जाम क्लियर भी किया और आइएएस अफसर बन गए.

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।