इस IPS से IAS ऑफिसर ने तोड़ा 28 साल पुराना रिकॉर्ड: UPSC CSE 2021 में प्राप्त की 61वीं रैंक, और बन गए IAS ऑफिसर

मोहित कासनिया को आयोग की तरफ से होम कैडर राजस्थान अलॉट भी किया गया है.
  
Mohit Kasnia

Aapni News, Success Story

IPS Success Story: यूपीएससी सिविल सेवा सर्विसेस परीक्षा को पास कर एक IPS या  IAS अधिकारी बनना आज हर कोई नौजवान का सपना है. हर साल लाखों अभ्यर्थी यूपीएससी की सिविल सेवा कील परीक्षा भी देते हैं, लेकिन उनमें से मात्र कुछ योग्य अभ्यर्थी ही इस परीक्षा को पास कर प्रशासनिक अधिकारी का पद हासिल कर पाते हैं. लेकिन आज हम ऐसे ही एक योग्य अभ्यर्थी की बात करेंगे, तो जिन्होंने ना केवल यूपीएससी की परीक्षा पास की है, बल्कि पिछले 28 सालों के एक रिकॉर्ड को भी तोड़ा है.

Also Read: UPSC Success Story: दीवारों पर इंग्लिश के शब्दों के अर्थ लिखकर सीखी अंग्रेजी, जानें सुरभि गौतम की आईएएस बनने की कहानी

तोड़ा 28 साल पुराना रिकॉर्ड
दरअसल, हम बात करे रहे हैं UPSC CSE 2021की परीक्षा में 61वीं रैकं प्राप्त करने वाले मोहित कासनिया की, जिन्हें हाल ही में अपने गृह राज्य राजस्थान के लोगों की सेवा करने का मौका भी दिया गया है. मोहित कासनिया को आयोग की तरफ से होम कैडर राजस्थान अलॉट भी किया गया है. हालांकि, हम बात करें तो  मोहित कासनिया द्वारा तोड़े गए 28 साल पुराने रिकॉर्ड की, तो उन्होंने लाल बहादुर शास्त्री प्रशासनिक अकादमी (LBSNAA) की वार्षिक इंटर हाउस एकेडमी एथेलेटिक्स मीट में 1.53 मीटर ऊंची कूद को लगाकर 1994 का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है.

Also Read:  UPSC Success Story: मां हाऊस वाईफ, पिता सरकारी टीचर, भ्रष्टाचार से हुआ प्रोफेसर बेटी Neha Yadav का सामना तो बनी IPS ऑफिसर

PhD के साथ-साथ क्रैक की UPSC की परीक्षा पास
बता दें कि मोहित कासनिया राजस्थान के एक हनुमानगढ़ जिले के रहने वाले हैं. उनका चयन पहले एक आईपीएस ऑफिसर के पद पर चयन हुआ था, लेकिन उनकी इच्छा एक IAS Officer बनने की थी, जिसके लिए उनहोंने दोबारा यूपीएससी का एग्जाम भी दिया और अंततः में आईएएस ऑफिसर का पद हासिल भी कर लिया. हालांकि, ये बता दें कि मोहित कासनिया को यह सफलता उनके 7वें प्रयास में प्राप्त हुई थी. मोहित कासनिया ने अपनी कक्षा 12वीं तक की पढ़ाई पीलीबंगा से की थी, जबकि इसके बाद उन्होंने अपनी इंजीनियरिंग जयपुर से की. बता दें इंजीनियरिंग के बाद मोहित ने दिल्ली में स्थित JNU esa PhD में दाखिला भी ले लिया था.

Also Read: UPSC Success Story: मनरेगा मजदूर मां-बाप की बेटी दोस्तों से पैसे उधार लेकर बनी आईएएस, जानें सफलता की कहानी

टॉपर्स की इन टिप्स से मिली सफलता
सोशल मीडिया रिपोर्स के मुताबिक, मोहित कासनिया ने अपने एक इंटरव्यू में यह बताया था कि उन्होंने साल 2016 में अपना यूपीएससी की तैयारी शुरू की थी. पहला अटेंप्ट देने से से पहले वह रोजाना करीब 10 से 12 घंटे पढ़ाई किया करता था. उन्होंने अपने पहले अटेंप्ट में प्रीलिम्स तो क्लियर भी कर लिया था, लेकिन वे मेन्स में लटक भी गए. उन्होंने अपना ऑप्शनल सब्जेक्ट फिजिक्स रखा था क्योंकि वे उस समय 11वीं व 12वीं के छात्रों को पढ़ाते भी थे.

Also Read: IAS Success Story: हिंदी मीडियम में पढ़ाई कर मिडल क्लास परिवार की बेटी प्रीति हुड्डा ने जानें आईएएस बन कैसे किया पिता के सपने को साकार

लेकिन मोहित कासनिया यह मानते हैं कि वे ऑप्शनल को लेकर थोड़े ओवर कॉन्फिडेंट हो गए थे. यही कारण था कि वे ऑप्शनल में 500 में से केवल 180 अंक ही हासिल कर पाए थे. इसके बाद उन्होंने कई अटेंप्ट भी दिए, लेकिन कभी मेन तो इंटरव्यू राउंड में असफल हो जाते थे. मोहित कासनिया यह बताते हैं कि साथ 2020 में उन्होंने बहुत कुछ पढ़ा, लेकिन 2021 में उन्होंने टॉपर्स की बातों को सुनकर सिलेबस को अच्छे से समझा और फिर कंटेंट पर नहीं बल्कि पिछले साल के प्रश्न पत्रों को हल करने में जुट गए.

Also Read: UPSC Success Story: मॉडलिंग के बाद सिविल सर्विस में बजाया डंका, ऐसे बनी राजस्थान की ऐश्वर्या श्योराण IAS
कहा अभ्यर्थियों को टारगेट ओरिएंटेड होने की जरूरत
मोहित कासनिया यह कहते हैं कि अभ्यर्थियों को तैयारी के दौरान टारगेट ओरिएंटेड होना बहुत जरूरी होता हैं. अभ्यर्थियों को पिछले सालों के टॉपर्स को सुनना भी चाहिए और उनकी बातों में से जो बात कॉमन लगे उस पूरी तरह से अमल करना भी चाहिए.

 

Also Read: इस राज्य में काम करना चाहती हैं UPSC टॉपर श्रुति शर्मा, एग्जाम की तैयारी के लिए बताए खास टिप्स

Also Read: IAS Suceess Story: पढ़ाई छोड़ने के 10 साल व शादी के 5 साल बाद हरियाणा की इस जाटनी ने किया आईएएस में टॉप, जानिये अनु कुमारी की सफलता की कहानी

Also Read: UPSC Success Story: DTC बच चालक पिता को बेटी प्रीति हुड्डा ने कॉल करके कहा- पापा मैं IAS बन गई, तब पिता से मिला ये जवाब

Also Read : सुमित शाह की प्रेरक कहानी, एक इंटरनेट मार्केटियर से एंटरप्रेन्योर का सफर

Also Read: UPSC Success Story: किसान की बेटी सेल्फ स्टडी के आधार पर बनी आईएएस, जानें उनकी सफलता का राज

Also Read: UPSC Success Story: बिना कोचिंग पहले ही प्रयास में पास की किसान की बेटी ने UPSC परीक्षा, ऐसे करती थी पढ़ाई

Also Read: UPSC CSE Result 2021:सिविल सेवा परीक्षा में प्रयागराज के अतुलेश ने पांचवें प्रयास में पाई सफलता

Also Read: इंटरव्यू से ठीक पहले पिता को खोने के बाद भी किया यूपीएससी क्रैक, मिलें IAS डॉ. राजदीप सिंह खैरा से

Also Read: IAS Swati Meena Success Story: मां चलाती थी पेट्रोल पंप, बेटी स्वाति मीणा UPSC एग्जाम पास करके बनी आईएसस ऑफिसर

Also Read: UPSC Success Story: किसान के बेटे ने 3 बार की यूपीएससी की परीक्षा पास, पढ़िये सफलता की कहानी

Also Read:  IAS Success Story: एमबीबीएस व पोस्ट-ग्रेजुएशन प्रवेश परीक्षा की तैयारी करने वाला 23 साल का धवल पटेल जानें कैसे बना आईएएस

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।