Home Breaking News लिफ्ट में फंसकर लैब अटेंडेंट की मौत, तीन बजे की घटना, रात आठ बजे निकाला गया शव

लिफ्ट में फंसकर लैब अटेंडेंट की मौत, तीन बजे की घटना, रात आठ बजे निकाला गया शव

Aapni News, Panipat

पानीपत के सेक्टर 11-12 स्थित एसडीवीएम सीनियर विंग स्कूल की लिफ्ट में पांच घंटे तक फंसे रहने से स्कूल के ही लैब अटेंडेंट की मौत हो गई। हादसा शुक्रवार दोपहर तीन बजे का है और उसका शव रात आठ बजे गैस कटर से लिफ्ट का दरवाजा काटकर निकाला जा सका। परिजनों का आरोप है कि शाम छह बजे तक मैनेजमेंट की ओर से कोई भी नजर नहीं आया और साढ़े छह बजे मैकेनिक बुलाए गए। परिजनों ने चार घंटे तक हंगामा किया और स्कूल मैनेजमेंट पर कार्रवाई की मांग की है।

हलवाई हट्टा निवासी अमित गुप्ता ने बताया कि उसका जुड़वा भाई अंकित गुप्ता (34) स्कूल में लैब अटेंडेंट था। उसकी 26 नंवबर 2020 में मीनाक्षी से शादी हुई थी। अंकित पिछले 11 साल से सेक्टर 11-12 स्थित एसडीवीएम स्कूल की सीनियर विंग में लैब अटेंडेंट के रूप में काम करता था।

शुक्रवार की दोपहर 3:58 बजे जूनियर विंग की एडमिनिस्ट्रेटर रेणुका सिंगला ने कॉल कर अंकित के लिफ्ट में फंसने की सूचना दी। वह बहन मनीषा गुप्ता और जीजा रविंद्र जैन के साथ स्कूल पहुंचे। दूसरी मंजिल पर अंकित लिफ्ट के गेट में फंसा था। उसकी गर्दन ऊपर और धड़ लिफ्ट में फंसा था। उस समय स्कूल के मैनेजमेंट के पदाधिकारी और स्कूल की प्रिंसिपल मौके पर ही मौजूद थे।
आरोप है कि उन्होंने मैनेजमेंट के हाथ जोड़कर जल्द से जल्द मैकेनिक बुलाकर भाई को बचाने की विनती की लेकिन मैनेजमेंट ने कुछ नहीं किया। हंगामा करने पर शाम साढ़े छह बजे दिल्ली से मैकेनिक बुलाए गए, जिन्होंने रात करीब आठ बजे गैस कटर से लिफ्ट का दरवाजा काटकर शव को बाहर निकाला।

परिजनों का आरोप- मैनेजमेंट के छह स्कूल, लेकिन मैकेनिक किसी में नहीं

परिजनों ने आरोप लगाया कि सनातन धर्म एजुकेशनल सोसायटी के छह स्कूल हैं और सभी में लिफ्ट लगी है। एसडीवीएम सीनियर विंग में भी दो लिफ्ट लगी है लेकिन किसी भी स्कूल में लिफ्ट के मेंटेनेंस के लिए मैकेनिक नहीं है। मैनेजमेंट की लापरवाही से उनके परिवार ने एक सदस्य को खो दिया है।

दिल्ली से आते थे कर्मचारी, समय-समय कर कराई जाती है सर्विस

मैनेजमेंट के एक पदाधिकारी ने बताया कि सभी लिफ्ट दिल्ली की कंपनी की हैं। वहीं से समय-समय पर कंपनी का मैकेनिक लिफ्ट की सर्विस के लिए आता है। लिफ्ट में खराबी होने पर कॉल करके बुलाया जाता है। हालांकि हादसे के संबंध में स्कूल मैनेजमेंट के पदाधिकारी बोलने से बचते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हादसा: फुटपाथ में लगे खंभे में उतरा करंट, चपेट में आने से  इंजीनियर की मौत

Aapni News, Rewari रेवाड़ी जिले के धारूहेड़ा के पॉश एरिया सेक्टर 4 व 6 को दिल्ली-जयुपर हाई…