Home न्यूज़ देश-विदेश बन रहा नया नियम: टोल नाके हटेंगे, फास्ट टैग नहीं हुआ रिचार्ज तो कटेगा चालान

बन रहा नया नियम: टोल नाके हटेंगे, फास्ट टैग नहीं हुआ रिचार्ज तो कटेगा चालान

0

Aapni News New Delhi

New rule: Toll will be removed, Fastag will be necessary : अब तक भारत में ट्रैफिक नियमों का पालन ना किए जाने पर ही वाहनों के चालान काटे जाते रहे हैं। लेकिन आने वाले कुछ समय के बाद यदि फास्ट टैग रिचार्ज नहीं करवाया है तो भी आपका चालान काटा जा सकता है। दरअसल देश की सरकार देशभर में टोल नाके हटाने की योजना बना रही है। इसके लिए एनएचएआई और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने मिलकर नियम बनाने शुरू कर दिए हैं। इसका मसौदा लगभग तैयार हो चुका है। नई योजना के सिरे चढ़ने पर अगर आपका वाहन बिना फास्ट टैग लगाये या बिना शुल्क चुकाए गुजरता है तो उसका चालान काटा जाएगा। यदि बार-बार चालान कटता है तो वाहन की आरसी को भी ब्लैक लिस्टेड किया जा सकेगा। अभी तक इस प्रस्तावित नियमों पर विचार चल रहा है और भविष्य में इसे लागू किया जा सकता है।


दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे से होगी शुरुआत
इस योजना को यदि केंद्र सरकार की तरफ से मंजूरी मिल जाती है तो सबसे पहले इसका ट्रायल दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर लागू किया जाएगा। यहां पर इसके लिए काम भी शुरू किया जा चुका है। इस एक्सप्रेस-वे पर आधुनिक ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर कैमरे लगाए गए हैं। यदि यह ट्रायल सिरे चढ़ जाता है तो उसके बाद देश के अन्य राष्ट्रीय राजमार्गों पर भी इस व्यवस्था को लागू कर दिया जाएगा। शुरुआती ट्रायल के दौरान व्यवस्था का फीडबैक लिया जाएगा और उसके बाद इसे अमल में लाया जाएगा।

गुगल पर गलती से भी ना करें ये सर्च, जाना पड़ सकता है जेल


मोबाइल पर भेजी जाएगी सूचना
टोल नाकों को हटाने की योजना चल रही है। फिलहाल ट्रायल के लिए आधुनिक कैमरों की मदद से चलते वाहन की नंबर प्लेट और फास्ट टैग के जरिए दूरी के हिसाब से टोल की राशि कट जाएगी। अगर कोई वाहन बिना फास्टैग के गुजरता है तो उसकी फुटेज कैमरे में कैद हो जाएगी और उसके आधार पर वाहन मालिक को उसके मोबाइल पर जुर्माने और चालान की सूचना दी जाएगी। यह पूरी व्यवस्था ऑनलाइन होगी और इसमें किसी तरह की कोई कागजी कार्रवाई की आवश्यकता नहीं रहेगी। इससे जहां टोल वसूली का काम पारदर्शिता से होगा वही राष्ट्रीय राजमार्गों की कमाई भी बढ़ेगी और टोल हटने से लोगों को दिखते भी नहीं आएगी। यानी कि लोगों को फिर कहीं रुकने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। यदि जुर्माने का भुगतान नहीं किया गया तो फास्ट टैग कंपनी नोटिस भेजेगी और इसकी एक कॉपी स्वत: ही एनएचएआई और परिवहन विभाग के सिस्टम में पहुंच जाएगी। यदि कोई वाहन चालक इस चालान के खिलाफ अपील करता है तो कैमरे की फुटेज के आधार पर उससे जुर्माना वसूला जाएगा। यानी कि उसके साथ किसी तरह की कोई चीटिंग भी नहीं की जा सकेगी।


फास्ट टैग का होगा ऑनलाइन रिचार्ज
फास्ट टैग को ऑनलाइन रिचार्ज करना काफी ज्यादा आसान है। इसके लिए आप बैंक खाते के साथ-साथ ऑनलाइन पेमेंट लेट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अपने मोबाइल में पेटीएम या अन्य यूपीआई लगभग लोग रखते हैं। ऐसे में वहां से भी रिचार्ज किया जा सकेगा। इसके अलावा यदि किसी उपभोक्ता के पास एक्सिस बैंक फास्टैग रिचार्ज, आईसीआईसीआई बैंक फास्टैग रिचार्ज, बैंक आफ बडौदा फास्टैग रिचार्ज, इंडियन हाईवेज मैनेजमेंट कंपनी फास्टैग रिचार्ज, इंडसइंड बैंक फास्टैग रिचार्ज लिया हुआ है तो पेटीएम से ऑनलाइन रिचार्ज किया जा सकेगा।


ऐसे करें फास्टैग रिचार्ज
पेटीएम पर फास्टैग रिचार्ज का ऑप्शन होता है। उस फास्टैग ऑप्शन पर क्लिक करें। फिर फास्टैग इशू करने वाले बैंक को सेलेक्ट करें। अपनी गाड़ी का नंबर या रजिस्ट्रेशन नंबर दर्ज करें। अब प्रोसीड पर क्लिक करें और रिचार्ज अमाउंट दर्ज करें। उसके बाद डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, पेटीएम वॉलेट या यूपीआई से पेमेंट कर सकते हैं।

यूपीआई UPI पेमेंट करते वक्त की ये गलती तो हो सकते हैं कंगाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नरमा के भाव में तेजी, जानिए नरमा, ग्वार, बाजरा, सरसों, मोठ के भाव में तेजी मंदी की रिपोर्ट

Aapni News, New Delhi हरियाणा की अनाज मंडियों में आज के भाव ऐलनाबाद अनाज मंडी बोली भाव दिन…