New Rule Applicable: वाहन का नहीं है प्रदुषण नियंत्रण प्रमाणपत्र (PUC) तो हो सकती है 6 माह की जेल

  
 New Rule Applicable
Aapni News, New Delhi

वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए दिल्ली सरकार बिना वैध प्रदूषण नियंत्रण (पीयूसी) प्रमाण पत्र वाले वाहनों पर सख्ती करने जा रही है। प्रदूषण के बढ़ने के चलते यह कदम उठाया जा रहा है। वाहन मालिकों को इस बारे में नोटिस भेजे गए हैं।

Also Read: सालासर जा रहे फतेहाबाद के 5 दोस्तों की मौत, 4 एक ही गांव के

नोटिस भेजे जाने के एक सप्ताह के भीतर उन्हें वाहन मालिकों को प्रदूषण की जांच करवानी होगी। 10 लाख वाहन मालिकों को वैध पीयूसी प्राप्त करने के लिए परिवहन विभाग ने एसएमएस भेजा है। परिवहन विभाग ने इन लोगों से वैध प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए अनुरोध किया है।

19 लाख दो और चार पहिया वाहन
अधिकारियों के मुताबिक मौजूदा समय में दिल्ली में 15 लाख दोपहिया और चार लाख कारों सहित कुल 19 लाख से अधिक वाहन बिना वैध पीयूसी के सड़कों पर चल रहे हैं। उन्होंने बताया कि लगभग 10 लाख वाहन मालिकों को वैध पीयूसी प्राप्त करने के लिए एसएमएस भेजकर कहा है कि यदि वे इसे समय पर नहीं प्राप्त करते हैं तो उन्हें भारी जुर्माने का सामना करना पड़ेगा।

Also Read: हत्यारे व बलात्कारी बाबा को पैरोल मिलने पर हरियाणा सरकार कटघरे में!, सीएम ने जानें क्या दिया जवाब

बढ़ते प्रदूषण पर उठाया कदम
यह कार्रवाई प्रदूषण के बढ़ने पर की गई है। उन्होंने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम कुछ हद तक वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करें। वैध पीयूसी प्राप्त करने के लिए लोगों को चेतावनी देना उस दिशा में उठाया गया एक कदम है।

छह महीने की हो सकती है कैद
अधिकारियों के मुताबिक वैध पीयूसी प्रमाण पत्र के बिना पकड़े जाने पर वाहन मालिकों को मोटर वाहन अधिनियम के तहत छह महीने तक की कैद या 10,000 रुपये तक का जुर्माना अथवा दोनों का सामना करना पड़ सकता है। इस बारे में कार्रवाई तेज होने जा रही है। दिल्ली की सड़कों पर परिवहन विभाग की 128 टीमें सोमवार से सक्रिय होने जा रही हैं।

Also Read: एयरपोर्ट पर गुलाब जामुन ले जाने से किया मना, तो शख्स ने निकाला ये अनोखा तरीका, जानकर आप भी हो जायेंगे लोट-पोट..

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।