Home Breaking News चिट्टे से खत्म होते रिश्ते: सप्लायर ने पत्नी को ही बना दिया चिट्टे का आदी, ओवरडोज से मौत

चिट्टे से खत्म होते रिश्ते: सप्लायर ने पत्नी को ही बना दिया चिट्टे का आदी, ओवरडोज से मौत

0

Aapni News, Sirsa

यह बताने की आवश्यकता नहीं रही है कि चिट्टे ने हरियाणा, पंजाब और राजस्थान के कुछ जिलों में अपने पैर जमा लिए हैं। अब तो चर्चा इस बात की आए दिन होती है कि कौन सी जगह पर कौन सा नशेड़ी किस हालात में मरा है। चिट्टे से मरने वालों का आंकड़ा भी आए दिन इस तरह से बढ़ रहा है कि लोग जब भी चिट्टे से मरने के संबंध में कोई समाचार पाते हैं तो उसको ऐसे इग्नोर कर रहे हैं जैसे कि यह आम बात हो। लेकिन आज हम इस चिट्टे की वजह से घटित हुई एक खौफनाक घटना के बारे में बता रहे हैं। इस घटना में आप पढ़ेंगे कि किस तरह से एक नशेड़ी तस्कर बनता है और उसके बाद इस तस्करी में अपनी पत्नी को शामिल करने के लिए उसे नशा सिखाता है। फिर वह पत्नी नशे की ओवरडोज से मर जाती है। अब उसके बाद पुलिस ने आगे क्या कुछ कार्रवाई की है।

यह भी पढ़ेंः मां-बाप हो जाएं सावधान, बाइक पर बैठाया ‘छोटे बच्चे’ को तो कटेगा चालान

दरअसल मामला है 12 दिसंबर 2021 का। हरियाणा के सिरसा जिला के गांव गंगा में एक विवाहिता संतोष रानी की नशे की ओवरडोज से मृत्यु हो गई। मामले में पुलिस ने भी इत्तेफाकिया कार्रवाई करना ही जरूरी समझा और उन्होंने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। लेकिन मृतक विवाहिता संतोष रानी के पिता ने जिला पुलिस अधीक्षक अर्पित जैन के सामने प्रस्तुत होकर कहा कि उसकी पुत्री संतोष रानी को नशे में धकेलने के लिए उसके पति सुशील कुमार, ननंद कोयल ननदोई दर्शन सिंह और सुशील कुमार के दोस्त राजेंद्र ने अहम भूमिका निभाई और उन्हीं की वजह से उनकी बेटी आज इस दुनिया में नहीं है। शिकायत के आधार पर एसपी सिरसा के निर्देशन में डबवाली के सदर थाने में उक्त चार लोगों के खिलाफ फिलहाल धारा 304, 328, 34 आईपीसी व एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ेंः किसानों को मिल रहे ₹3 लाख तक, 15 फरवरी से पहले करें आवेदन

अब शिकायत के बाद पुलिस का मानना है की गंगा निवासी सुशील नशेड़ी है और आज वह चिट्टे का एक बड़ा तस्कर बना हुआ है। चिट्टे के गोरखधंधे में ज्यादा कमाई करने के लिए सुशील कुमार ने अपनी पत्नी को ही इसमें शामिल कर लिया। शुरुआत में उसने चिट्टे के दलदल में पत्नी संतोष रानी को डाल दिया और वह धीरे-धीरे इसकी आदी बन गई। यह आदत इतनी ज्यादा बढ़ गई कि चिट्टे की ओवरडोज से संतोष रानी की 12 दिसंबर को मृत्यु हो गई। मृतक संतोष रानी के पिता दानाराम के शिकायत करने के उपरांत पुलिस हरकत में आई और उन्होंने पति, ननंद, ननदोई सहित चार लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज कर लिया है। अब इस प्रकरण से आप रिश्ते-नातों को खत्म होते अच्छे से महसूस कर सकते हैं।

यह भी पढेंः शर्मनाकः दहेज के लोभियों ने छीना 5 महीने की बच्ची के सिर से मां का साया

सिरसा में 11 महीनों में 60 महिला तस्कर पकड़ी
यहां यह बताना भी जरूरी है कि इस क्षेत्र के अकेले सिरसा जिला में पिछले 11 महीनों में पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक 60 महिलाएं नशा तस्करी के आरोप में जेल जा चुकी हैं। वहीं पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक पिछले साल 27 लोगों की मौत नशे की वजह से हुई है। यह आंकड़ा पिछले दो-तीन सालों से बढ़ता हुआ ही चल रहा है। अब इस मामले में जितना कसूर पुलिस का है उतना ही समाज के लोगों में जागरूकता का ना होना या फिर जानबूझकर नशा (विशेष तौर पर चिट्ठे के नशे) के संबंध में गंभीरता ना दिखाना है। अगर समाज के लोग अभी भी सजग नहीं हुए व पुलिस अगर बड़े तस्करों को पकड़ने में कामयाब नहीं होती है तो इस तरह की घटनाएं आम होने में समय नहीं लगेगा।

यह भी पढ़ेंः तांत्रिक विद्या के जाल में फंसा युवक, फांसी लगाकर दी जान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नरमा के भाव में तेजी, जानिए नरमा, ग्वार, बाजरा, सरसों, मोठ के भाव में तेजी मंदी की रिपोर्ट

Aapni News, New Delhi हरियाणा की अनाज मंडियों में आज के भाव ऐलनाबाद अनाज मंडी बोली भाव दिन…