सरकार किसानों को 27,250 सोलर पंपों व ड्रोन पर आधी छुट दे रही, जल्द करें आवेदन

  
cv

Aapni News, Yojana

ग्रामीण इलाकों में आज भी बिलजी की समस्या एक मुख्य समस्या मानी जाती है जिसका समाधान देश के अन्नदाताओं के लिए बहुत जरूरी है. बिलजी पर ही सिंचाई से लेकर खेती-बाड़ी का अन्य काम निर्भर रहता है. ऐसे में अगर बिजली की सुविधा ना हो तो किसानों को पेट्रोल-डीजल का खर्चा उठाना पड़ता है. इसकी वजह से खेती-किसानी में किसानों की लागत बढ़ जाती है. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार ने किसानों को पीएस कुसुम योजना के तहत  27,250 सोलर पंपों का आवेदन किया गया है.

Also Read: 2nd Plant Based Foods Summit: खाद्य शिखर सम्मेलन के लिए 3 सरकारी निकाय हुए शामिल

किसानों को  27,250 सोलर पंपों का आवंटन

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री कुसुम योजना के अंतर्गत किसानों को 27,250 सोलर पंपों का आवंटन दिया है. इसके अलावा प्रदेश में FPO एवं कृषि स्नातकों को ड्रोन पर 40%-50% सब्सिडी दी जा रही है.

कुसुम योजना के तहत सोलर पंपों पर मिलती है 60 प्रतिशत की सब्सिडी

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत सरकार किसानों को 60 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर सोलर पंप मुहैया कराई जाती है. किसानों के साथ-साथ ये पंप पंचायतों और सहकारी समितियों को इसी अनुदानित कीमत पर दिए जा रहे हैं. इसके अलावा सरकार अपने खेतों के आसपास सोलर पंप संयंत्र स्थापित करने के लिए लागत के 30 प्रतिशत तक का लोन उपलब्ध करा रही है. इस हिसाब से किसानों को इस प्रोजेक्ट का केवल 10 प्रतिशत राशि ही खर्च करना होता है.

Also Read: बरसात के समय करें इन फसलों की खेती, कमा सकते हैं लाखों रुपये

किसानों के लिए सिंचाई की समस्या सुलझा सकते हैं सोलर पंप

साल 2022 उत्तर प्रदेश के 62 से ज्यादा जिले सूखे की स्थिति का सामना करना पड़ा था. बिजली से सिंचाई किसानों के लिए काफी महंगी साबित हो रही है. डीजल पंपों के सहारे सिंचाई भी किसानों की जेब पर बुरा असर डाल रही है. स्थिति को देखते हुए अन्य विकल्पों की तलाश की जा रही थी. अब इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार किसानों को सोलर पंप दे रही है. उत्तर प्रदेश सरकार का ये फैसला सिंचाई को लेकर उनकी समस्या को काफी हद तक सुलझाया जा सकता है. 

Also Read: तपती धुप के दौरान पौधों में डालें ये खाद, पौधे का विकास होगा तेजी से

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।