Home विविध शख्सियत दहेज में मिल रहे थे 11 लाख, 1 रुपया व नारियल उठाकर गढ़वाल परिवार ने कायम की मिशाल

दहेज में मिल रहे थे 11 लाख, 1 रुपया व नारियल उठाकर गढ़वाल परिवार ने कायम की मिशाल

0

Aapni News Sirsa
फतेहाबाद जिला के गांव दौलतपुरिया निवासी इंद्राज गढ़वाल के पुत्र की शादी सिरसा जिला के गांव गुडिया खेड़ा निवासी जसवंत ढाका की पुत्री के साथ रविवार को थी। रविवार रात को फेरे होने के बाद सोमवार सुबह विदाई के दौरान लड़की पक्ष की तरफ से दहेज की रश्म अदा की जा रही थी। इस दौरान लड़की पक्ष ने दहेज में 11 लाख रूपए देना चाहा। लेकिन लड़के पक्ष की तरफ से 11 लाख रूपए की बजाय केवल 1 रूपया व नारियल ही उठाया और दहेज के लोभियों को संदेश दिया कि इज्जत दहेज की नहीं बेटी की करनी चाहिए। यहां बता दें कि दौलतपुरिया गांव का गढ़वाल परिवार काफी साधन-संपन्न परिवार है और इंद्राज गढ़वाल खुद नौसेवा के पूर्व सैनिक हैं वहीं उनका बेटा जो दुल्हा बनकर गुड़िया खेड़ा पहुंचा था वो भी नौसेवा में शामिल है। इतने बड़े त्याग के बारे में जब लोगों का पता लगा तो सभी नें इस कदम की काफी प्रशंसा की और समाज में एक संदेश पहुंचा कि बेटी ही दहेज है और बेटी से बढ़कर कोई दहेज नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में कोरोना के कारण तनाव झेल रहे लोगों को मनोवैज्ञानिक देंगे सलाह, नंबर जारी

Aapni News, Chandigarh हरियाणा सरकार ने कोरोना महामारी के कारण तनाव झेल रहे लोगों को मानसि…