Ayodhaya: राम मंदिर के निर्माण की देखिंए नई झलक, जानें कब से शुरू हो रहे हैं रामलला के दर्शन

अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि पर बन रहे राम मंदिर के निर्माण की ड्रोन कैमरे से ली गई तस्वीर को श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से जारी भी किया गया है।
  
Ram Mandir ka Photo

Aapni News, New Delhi

अयोध्या श्रीराम जन्म भूमि पर बन रहे राम मंदिर के निर्माण की ड्रोन कैमरे से ली गई तस्वीर को श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से जारी भी किया गया है। जिसमें स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि किस तरह से मंदिर का निर्माण हो रहा हैं

Also Read: Indian Railway: रेल यात्रियों से 7 महीने में की 92 फिसदी अधिक की कमाई

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि पर बन रहे राम मंदिर के निर्माण की ड्रोन कैमरे से ली गई तस्वीर को श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से जारी भी किया गया है। जिसमें स्पष्ट दिखाई भी दे रहा है कि किस तरह से राम मंदिर का निर्माण तीव्र गति के आकार ले रहा है। यह बताया जाता है कि मंदिर का प्रथम तल दिसंबर 2023 तक बनकर तैयार हो जाएगा और जनवरी 2024 में रामलीला अपने स्थान पर विराजमान भी हो जाएंगे।

Also Read: AFMSD Recruitment 2022: 420 चिकित्सा अधिकारी पदों के लिए भर्ती, जानिए जानकारी सम्पूर्ण एक बार में

श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने ड्रोन कैमरे से ली गई ये तस्वीर साझा करते हुए मंदिर निर्माण की प्रगति से श्रद्धालुओं को अवगत भी कराया। ड्रोन से लिए गए चित्र में ये दिखाई दे रहा है कि राम मंदिर का गर्भगृह व फाउंडेशन भी बन चुका है और उस पर तराशे गए खंभे खड़े स्थापित भी हो रहे हैं। क्योकि ट्रस्ट पहले से ही यह घोषणा कर चुका है कि जनवरी 2024 से रामलीला के दर्शन भी किये जा सकते हैं। इसी वजह से मंदिर निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है और इसकी जानकारी से लोगों को भी समय-समय पर ट्रस्ट के जरिये अवगत भी कराया जा रहा है।

Also Read: Jobs in Airport Authority of india: एएआई जूनियर और वरिष्ठ सहायक पदों के लिए भर्ती, यहां जानिये संपूर्ण जानकारी

कुछ तस्वीरें 25 नवंबर 2022 को जारी की गई थीं। जिसमें दिखाया जा रहा है कि मंदिर निर्माण के लिए तराशे गए खंभों को भी लगाया जा रहा है। इन फोटोज को भी चंपत राय ने अपने ट्विटर अकाउंट पर भी शेयर किया था। इससे पहले भी ट्रस्ट की तरफ से निर्माण कार्य की तस्वीर भी साझा की गई थी और अलग-अलग दो वीडियो भी बनाया गया था।

Also Read: SBI Recruitment 2022 - 5008 Junior Associate पदों के लिए भर्ती, जानिए जानकारी सम्पूर्ण एक बार में

जिसमें निर्माण की प्रगति से लेकर पूर्ण निर्माण के बाद मंदिर किस तरह से नजर आएगा, यह भी दर्शाया गया हैं। उल्लेखनीय है कि श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए खंभों को तराशने का काम सन् 1992 से ही किया जा रहा है। अब उनका इस्तेमाल होना शुरु हुआ है।

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।