Indian Railways: अब यात्रियों को होगी टेंशन कम, रेलवे से AI दिलाएगा कंफर्म टिकट

यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉड्यूल वेटिंग लिस्ट को 5 से 6 फीसदी तक कम करने में सक्षम है. इस प्रोग्राम के परीक्षण के बाद ज्यादातर यात्रियों को टिकट कंफर्म हो चुके थे.
  
Indian Relways ka Photo

Aapni News, New Delhi

भारतीय रेल में सफर करना अच्छा लगता है, लेकिन टिकट कंफर्म न हो तो पूरा मजा खराब भी हो जाता है. कभी कभी आपातकालीन स्थिति में भी यात्रा करनी भी होती है, लेकिन वह कंफर्म टिकट न मिलने से परेशानी भी बढ़ जाती है.

Also Read: अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए नहीं देना होगा टेस्ट!, इन कागजात के साथ घर बैठे ही हो जाएगा काम

अब भारतीय रेल ने कंफर्म टिकट को लेकर भारतीय रेलवे की ओर से बड़ी राहत मिलने वाली है. भारतीय रेलवे ने वेटिंग लिस्ट को ठीक करने के लिए बनाए गए एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) प्रोग्राम के परीक्षण को सफलतापूर्वक पूरा भी कर लिया है.

Also Read: ड्राइविंग लाइसेंस में घर बैठे बदलें अपना पता, जानें स्टेप बाय स्टेप तरीका

यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉड्यूल वेटिंग लिस्ट को 5 से 6 फीसदी तक कम करने में सक्षम है. इस प्रोग्राम के परीक्षण के बाद ज्यादातर यात्रियों को टिकट कंफर्म हो चुके थे. भारतीय रेलवे की इन-हाउस सॉफ्टवेयर शाखा सेंटर फॉर रेलवे इंफॉर्मेशन सिस्टम की ओर से विकसित ‘आइडियल ट्रेन प्रोफाइल’ को राजधानी सहित लंबी दूरी की करीब 200 ट्रेनों की जानकारी के साथ फीड किया गया था.
जानें एआई मॉड्यूल ने कैसे किया काम?

Also Read: Indian Railway: रेल यात्रियों से 7 महीने में की 92 फिसदी अधिक की कमाई

परीक्षण के दौरान एआई की सहायता से कई पैटर्न का पता भी लगया गया. जैसे यात्रियों ने टिकट कैसे बुक किया और टिकट के लिए कितनी दूरी की डेस्टिनेशन चुनी. और साथ ही देखा गया कि यात्रा अवधि के कितने हिस्से में कौन सी सीटें खाली रहीं है. भारतीय रेलवे अधिकारियों ने यह बताया कि रेलवे मई-जून की छुट्टियों की अवधि से पहले इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (।प्द्ध प्रोग्राम के परीक्षण को पूरा करना चाहता था. क्योंकि इस भारतीय रेलवे कन्फर्म टिकटों की मांग सबसे ज्यादा होती है और बड़ी संख्या में लोगों को कंफर्म टिकट भी नहीं मिल पाते.

Also Read: AFMSD Recruitment 2022: 420 चिकित्सा अधिकारी पदों के लिए भर्ती, जानिए जानकारी सम्पूर्ण एक बार में

जानें AI से हर वर्ष प्रति ट्रेन एक करोड़ रुपए का फायदा

रेल भवन के एक अन्य अधिकारी ने यह कहा कि भारतीय रेलवे अपनी सभी आरक्षित ट्रेनों के लिए 1 बिलियन टिकट कॉम्बिनेशन के साथ काम भी करता है. इतना ही नहीं कि एआई की सहायता से भारतीय रेलवे को हर वर्ष प्रति ट्रेन एक करोड़ रुपये का अतिरिक्त राजस्व मिल भी सकता है. रेलवे के अधिकारी ने कहा कि एआई को आप समय के साथ जितना अपडेट करते हैं, वह उतना ही सटीक होता चला जाता है.

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।