RBI ने लिया एक बड़ा फैसला, इस बैंक के लेनदेन पर लगाई रोक, जानें अब ग्राहकों का क्या होगा हाल

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने प्रेस रिलीज में यह कहा है कि बैंकिंग अधिनियम के तहत आरबीआई ने अपनी शक्तियों का भी इस्तेमाल करते हुए एसबीएम बैंक के लेनदेन को रोकने का फैसला भी लिया है.
  
RBI ka Photo

Aapni News, New Delhi

Reserve Bank Of India: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से देश के सरकारी, प्राइवेट और सहकारी बैंक समेत सभी के लिए दिशा निर्देश भी जारी किए जाते हैं. अगर आपने भी देश के किसी भी बैंक में अपना अकाउंट ओपन करा रखा है तो अब आरबीआई के नए नियम को जरूर जान लें. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अब बैंक के लेनदेन पर तत्काल प्रभाव से रोक भी लगा दी गई है लेकिन अब आप किसी भी तरह से ट्रांजेक्शन नहीं कर पाएंगे.

Also Read: सालासर जा रहे फतेहाबाद के 5 दोस्तों की मौत, 4 एक ही गांव के

जानें क्यों लगाई गई है रोक?
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने SBM बैंक लिमिटेड पर लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम के तहत तत्काल प्रभाव से रोक लगाने का भी फैसला लिया है. आरबीआई ने अब ये बताया गया है कि अगली सूचना तक यह रोक लागू रहेगी.

Also Read: हत्यारे व बलात्कारी बाबा को पैरोल मिलने पर हरियाणा सरकार कटघरे में!, सीएम ने जानें क्या दिया जवाब

जारी हुई प्रेस रिलीज
बैंकिंग विनियमन अधिनियम, सन् 1949 की धारा 35ए और 36 (1) (ए) के तहत आरबीआई ने ने एसबीएम बैंक को LRS का लेनदेन रोकने का निर्देश भी जारी किया है, जिसको बैंक को फॉलो करना जरूरी है. इसके साथ ही आरबीआई ने प्रेस रिलीज भी जारी की है.

Also Read:बागेश्वर महाराज से होगी जया किशोरी की शादी? धीरेंद्र शास्त्री ने बताई सच्चाई

काफी चिंताओं के बाद उठाया ये कदम
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने प्रेस रिलीज में यह कहा है कि बैंकिंग अधिनियम के तहत आरबीआई ने अपनी शक्तियों का भी इस्तेमाल करते हुए एसबीएम बैंक के लेनदेन को रोकने का फैसला भी लिया है. यह कार्रवाई काफी चिंताओं के बाद में भी की गई है.

Also Read: एयरपोर्ट पर गुलाब जामुन ले जाने से किया मना, तो शख्स ने निकाला ये अनोखा तरीका, जानकर आप भी हो जायेंगे लोट-पोट..

यह एक फाइनेंशियल सर्विसेज ग्रुप है
ये बता दें कि एसबीएम बैंक मॉरीशस स्थित एसबीएम होल्डिंग्स की सहायक कंपनी है.SBM Group एक फाइनेंशियल सर्विस ग्रुप है, जो डिपॉजिट, लोन, बिजनेस के लिए फाइनेंस और कार्ड समेत अन्य सर्विस की पेशकश को पेश करता है.

Also Read: UPPSC Recruitment 2022: उत्तर प्रदेश में सरकारी नौकरी पाने का एक सुनहरा मौका, जल्दी करें आवेदन

3 करोड़ का लग चुका है जुर्माना
एसबीएम बैंक ने आरबीआई से लाइसेंस लेने के बाद में 1 दिसंबर 2018 को बैंकिंग सुविधाओं को शुरू की थी. इस समय देश भर में कुल 11 ब्रांच बनी हुई हैं. साल 2019 में नियामक मानदंडों का पालन न करने के लिए बैंक पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था.

 

Text Example

Disclaimer : इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है उसकी पुष्टि Aapninews.in द्वारा नहीं की गई है। यह सारी जानकारी हमें सोशल और इंटरनेट मीडिया के जरिए मिली है। खबर पढ़कर कोई भी कदम उठाने से पहले अपनी तरफ से लाभ-हानि का अच्छी तरह से आंकलन कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें। Aapninews.in पोस्ट में दिखाए गए विज्ञापनों के बारे में कोई जिम्मेदारी नहीं लेता है।