Home हरियाणा हिसार, सिरसा, फतेहाबाद, हांसी सिरसा की नहरों में 16 दिन की बजाय 8 दिन दिया जा रहा पानी, जानें वजह

सिरसा की नहरों में 16 दिन की बजाय 8 दिन दिया जा रहा पानी, जानें वजह

Aapni News, Sirsa

भाखड़ा डैम में जलस्तर पिछले तीन सालों के मुकाबले सबसे कम है। 11 जून की रिपोर्ट के अनुसार डैम में 1510.84 फीट पानी है जोकि गत वर्ष से 50 फीट कम है, जबकि दो वर्ष के मुकाबले यह सौ फीट कम है। डैम में पानी की कमी की वजह से सिरसा में नहरों में आठ दिन पानी दिया जा रहा है जबकि 16 दिन की बंदी है। किसानों की मांग आठ के बजाय 16 दिन नहर चलाने की है। नहरों में पानी देने के तीन ग्रुप की बजाय किसान दो ग्रुप में चलाए जाने की मांग कर रहे हैं ताकि 16 दिन नहर में पानी उपलब्ध हो सके।

सिचाई विभाग के अधिकारियों के अनुसार डैम में पानी कम होने की वजह कैचमेंट एरिया में बरसात न होना है। जिस क्षेत्र से डैम में पानी पहुंचता है वहां बारिश कम होने व पहाड़ों से पानी कम आ रहा है। 2019 में डैम में 33 हजार क्यूसेक पानी प्रतिदिन आ रहा था। वर्ष 2020 में 26326 तथा वर्तमान में 26863 क्यूसेक पानी डैम में आ रहा है जबकि निकासी 18917 क्यूसेक पानी की है ताकि इस पानी का उपयोग अधिक दिन तक किया जा सके।

पिछले वर्ष 4500 क्यूसेक तो इस बार 3200 क्यूसेक पानी मिला

सिरसा जिला में नहरी पानी की मात्रा भाखड़ा डैम से ही कम दी जा रही है। पंजाब, हरियाणा, राजस्थान का अलग-अलग कोटा है। सिरसा को इस बार 3200 क्यूसेक पानी प्रतिदिन मिल रहा है जबकि गत वर्ष सिरसा को 4500 क्यूसेक पानी प्रतिदिन मिलता था। डैम में पानी कम होने के कारण सभी जिलों का कोटा घट गया है।

——–

डैम का जलस्तर

वर्ष जलस्तर

2021 1510.84 फीट

2020 1561.67 फीट

2019 1610.07 फीट

–  भाखड़ा डैम से जुड़े राज्यों के पानी का कोटा कम किया गया है। मानसून के दौरान बरसात होने पर डैम में जलस्तर बढ़ेगा और उसके बाद ही समुचित मात्रा में पानी मिल पाएगा। फिलहाल कम पानी के अधिक उपयोग पर काम करना होगा। आत्माराम भांभू, अधीक्षण अभियंता, नहरी विभाग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की मुश्किलें बढ़ीं, कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट, जानिए क्या है पूरा मामला

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। लखनऊ कोर्ट ने डांसर के खिलाफ गिरफ्तारी …