Home राजनीति जब शादी और अंत्येष्टि में 11 लोगों की शर्त तो सरकारी कार्यक्रम में भीड़ क्यों?

जब शादी और अंत्येष्टि में 11 लोगों की शर्त तो सरकारी कार्यक्रम में भीड़ क्यों?

Aapni News

मुख्यमंत्री मनोहर लाल रविवार को हिसार, पानीपत और गुड़गांव में कोविड अस्पतालों का उद्घाटन करने पहुंचे। उनके कार्यक्रमों में काफी भीड़ जुटी। हालांकि, लॉकडाउन के तहत सरकार ने हर तरह के सार्वजनिक कार्यक्रम पर रोक लगा रखी है। बारात पर भी पाबंदी है। शादी और अंत्येष्टि में भी 11 लोग ही जा सकते हैं।

प्रदेश को कोरोना के संकट से उबारने के लिए बहुत से लोग अपने काम-धंधे भी बंद करके बैठे हैं। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या ये उद्घाटन ऑनलाइन नहीं किए जा सकते थे। अगर फिजिकल उद्घाटन करना था तो भीड़ को तो जुटने से रोका ही जा सकता था। सीएम के जिन कार्यक्रमों में नियम टूटे उनमें केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान व राव इंद्रजीत, स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज, मंत्री अनूप धानक और डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा भी शामिल थे।

जनता के लिए ये हैं आदेश

3 मई को लॉकडाउन की घोषणा के वक्त जारी आदेश के क्रमांक 16 के पार्ट C में लिखा है कि प्रदेश में हर तरह के कार्यक्रमों पर पाबंदी रहेगी। डीसी की मंजूरी से ही ये हो सकेंगे।

डीसी बोलीं: कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग रखी

सरकारी नियम लागू करने और भीड़ रोकने की जिम्मेदारी डीसी की है। पानीपत के डीसी धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि कार्यक्रम में लिमिटेड लोग बुलाए थे, लेकिन अचानक भीड़ बढ़ गई। हिसार की डीसी प्रियंका सोनी ने कहा कि कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग रखी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

दिल दहला देने वाला मामला: चार माह के मासूम को पिलाया तेजाब, जानिए वजह

Aapni News, Panipat पानीपत में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। चार माह के एक मासूम …