Kids Aadhaar Card: अपने बच्चे का आधार बनवाने में न बरतें लापरवाही, झेलना पड़ सकता है झंझट! - Aapni News

Kids Aadhaar Card: अपने बच्चे का आधार बनवाने में न बरतें लापरवाही, झेलना पड़ सकता है झंझट!

Rajbala Poonia
3 Min Read

Kids Aadhaar Card:   बैंक खाता खोलने से लेकर सिम कार्ड खरीदने तक हर क्षेत्र में आजकल आधार कार्ड की जरूरत बढ़ गई है। यह अब बड़ों के साथ-साथ बच्चों के लिए भी जरूरी हो गया है। आधार के लिए जिम्मेदार भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) का कहना है कि आधार प्राप्त करने के लिए कोई न्यूनतम आयु सीमा नहीं है। इसका मतलब यह है कि नवजात शिशु का भी आधार कार्ड बनवाया जा सकता है।
पांच साल तक के बच्चों के आधार कार्ड का रंग नीला है। यह बच्चे के बायोमेट्रिक डेटा, जैसे उंगलियों के निशान और रेटिना स्कैन, को तब तक कैप्चर नहीं करता जब तक कि वह पांच साल का न हो जाए।

Kids Aadhaar Card: बच्चों का आधार कार्ड बनवाते समय सावधानी बरतनी जरूरी है। कई स्कूल अब एडमिशन के समय आधार कार्ड मांगने लगे हैं और इसे न बनवाने पर कई तरह की दिक्कतें हो सकती हैं। बच्चे का आधार कार्ड बनवाते समय सारी जानकारी सही-सही दर्ज करानी चाहिए। अगर कोई जानकारी गलत हो जाती है तो उसे ठीक कराने के लिए आपको आधार सेंटर जाना होगा, जिससे परेशानी हो सकती है।

Also Read: Urea Spraying by Drone: सिर्फ 100 रुपये में किसान अपने खेतों में करा सकेंगे यूरिया का छिड़काव, ऐसे उठाएं लाभ

Kids Aadhaar Card: बच्चे के आधार कार्ड के लिए नाम की सही ताकत देना महत्वपूर्ण है, जिसमें पहला नाम और उपनाम भी शामिल है। गलती से नाम छूट जाने से बाद में दिक्कत हो सकती है, जिसे ठीक कराने में समय-समय पर दिक्कत आ सकती है।

आधार कार्ड में माता-पिता का नाम सही ढंग से दर्ज होना बहुत जरूरी है। उपनाम को लेकर सावधान रहना चाहिए, क्योंकि गलतियाँ हो सकती हैं। कई बार ऐसा होता है कि आधार केंद्र या अस्पताल में भीड़भाड़ के कारण बच्चे के माता-पिता के बारे में गलत जानकारी दर्ज हो जाती है, जो भविष्य में परेशानी का कारण बन सकती है।

Also Read: Investing Hints: अगर आप भी म्यूचुअल फंड में निवेश करने जा रहे हैं तो अब आपके लिए अच्छा मौका है।

Kids Aadhaar Card: बच्चे के आधार कार्ड के लिए पता दर्ज करते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि पता सही हो। आमतौर पर पिता के आधार कार्ड के पते का इस्तेमाल किया जाता है और पिता के दस्तावेज मांगे जाते हैं। हालाँकि, किसी को कंप्यूटर सिस्टम में दर्ज की गई जानकारी पर एक नज़र डालनी चाहिए।

Kids Aadhaar Card:  बच्चे के आधार कार्ड को माता-पिता के आधार से लिंक करना बेहद जरूरी है। यह लिंक माता-पिता के आधार विवरण के साथ बच्चे की आसानी से पहचान करने में सहायता प्रदान करता है।

Share This Article
Leave a comment